१० पंक्तियाँ शिक्षा

स्वतंत्रता दिवस १० पंक्तियाँ- 10 Lines on Independence Day Hindi

swatantrata diwas 10 panktiya 10 lines

आप सबको स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देकर में इस लेख की शुरुवात करतां हूँ। यह साल सारे भारत और दुनिया में खुशी और शांति लाएं। आपको ७२वे स्वतंत्रता दिवस की ढेर सारी शुभकामनाएं| आप इस पेज पर हैं मतलब आपने “स्वतंत्रता दिवस पर १० पंक्तियां” या “स्वतंत्रता दिवस के बारे में १० लाइन्स” या कुछ ऐसा कुछ गूगल किया होगा, है ना? स्वतंत्रता दिवस से संबंधित भाषण या निबंध में अपने बच्चे या छोटे भाई, बहन की मदद करने की कोशिश आप कर रहें है। तो आप सही जगह पर हैं।

भारत का ७२वां स्वतंत्रता दिवस अब बस कुछ ही दिनोंमे आ जायेगा। इस दौरान स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस एक सबसे आम निबंध या भाषण का विषय होता है। टीचर्स इस विषय पर बच्चों को असाइनमेंट और होमवर्क भी देते हैं| वे चाहते हैं कि बच्चों को भारत के स्वतंत्रता संग्राम, हमारे स्वतंत्रता सेनानियों, शहीदों के बलिदान के बारे में ज्ञान हो। इससे छात्रों को स्वतंत्रता के महत्व का एहसास हो जाएगा, इससे उन्हें उनके अधिकारों और सुविधाओं की सराहना करने में मदद मिलेगी। स्वतंत्रता दिवस भाषण, छात्रों, शिक्षकों के लिए हिंदी में

यहां इस लेख में, हमने आपको स्वतंत्रता दिवस पर १० से अधिक कुछ पंक्तियां दी हैं। यह सेक्शन कक्षा १,२,३ आदि के छात्रों के लिए अच्छा है। अगले सेक्शन में, हमने कुछ २० से २५ पंक्तियोंका स्वतंत्रता दिवस पर लघु निबंध दिया। आप इस सामग्री का उपयोग भाषण के लिए भी कर सकते हैं। यह सेक्शन कक्षा ४,५ के स्कूल के छात्रों के लिए उपयुक्त है। अगर आपको बड़ा निबंध या भाषण लिखना है तो आप आगे दिए गए अंग्रेजी आर्टिकल पढ़ सकते है|

10 Lines on Independence Day in Hindi स्वतंत्रता दिवस पर १० पंक्तियाँ

१. भारत को १५ अगस्त १९४७ को आजादी मिली।
२. हजारों स्वतंत्रता सेनानियों ने देश के लिए अपने जीवन का त्याग किया।
३. उन्होंने कई साल जेल में काटे।
४. महात्मा गांधी, शाहिद भगत सिंह, पंडित नेहरू, नेताजी सुभाषचंद्र बोस और अन्य सेकड़ो महानायक भारत की आजादी के लिए लड़े|
५. स्वतंत्रता मिलने के बाद हम २ राष्ट्रों में विभाजित हुए; भारत और पाकिस्तान।
६. हम २६ जनवरी १९५० को गणतंत्र राष्ट्र बन गए।
७. इस दिन हमारा संविधान लागू हुआ। हम २६ जनवरी को अपना गणतंत्र दिवस मनाते हैं।
८. डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर को हमारे संविधान के वास्तुकार के रूप में सम्मानित किया जाता है।
९. इस साल हम भारत का ७२वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं।
१०. हमारा स्कूल इस दिन परेड और विभिन्न कार्यक्रमों की व्यवस्था करता है।
११. मुझे अपने देश से बहुत प्यार है और मुझे इस पर गर्व है।
१२. मैं एक अच्छा नागरिक बनने की कोशिश करूंगा।
१३. मैं भ्रष्टाचार, अपराध और अन्य बुरी चीजों में कभी भाग नहीं लूँगा।
१४. मैं अपने देश को साफ रखूंगा।
१५. अंत में, मैं आपको सभी की स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देना चाहता हूं| आपक सबको स्वतंत्रता दिवस मुबारक हो।

यहां हमने १० से अधिक लाइनें दी हैं ताकि आप अपनी जरूरत के हिसाब से उन्हें चुन सकें। यदि आपको इसमें कुछ शब्द मुश्किल लगते है तो आप उन्हें सरल समानार्थी शब्दों के साथ बदल सकते हैं। स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिंदी में

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध Essay on Independence Day in Hindi

अब ७ दशकों से अधिक काल बीत गया है| हमें १५ अगस्त १९४७ को अंग्रेजोंसे आजादी मिली। हम २६ जनवरी १९५० को गणतंत्र राष्ट्र बन गए। लेकिन फिर भी, भारत में आज भी लाखों लोग आधे पेट सोते हैं। भ्रष्टाचार, अपराध ने हमारे देश को खोखला कर दिया है। राजनेता, व्यवसायिक लोग हजारों करोड़ों रुपयोंका घोटाले करते हैं।

अभी भी शिक्षा, स्वास्थ्य, परिवहन, इंफ्रास्ट्रक्चर प्रणालियों में समस्याएं हैं। सिंगापुर जैसे देश जिन्हें भारत के बाद आजादी मिली, जिनके पास बहुत कम संसाधन और भूमि है; आज एक विकसित देश बन गए है। हम, हमारे अपने लोग भारत को पीछे खींच रहे हैं। आज भी ऐसी हजारों समस्याएं हमारे सामने हैं। स्वतंत्रता दिवस पर मंच संचालन भाषण

लेकिन हम इसके बारे में कब तक शिकायत करते रहेंगे। अब हम, युवा पीढ़ी को खड़े होने की जरूरत है। हमें अपने देश को फिर से महान बनाने की जिम्मेदारी लेनी होगी। हम सबसे पुरानी सभ्यता हैं, अन्य देशोंने हमसे चीजें सीखी हैं और हमने पीछे रह गए। अब फिर से नेतृत्व करने का समय है। हम, युवा पीढ़ी केवल यह कर सकते हैं। आज मैं प्रतिज्ञा करता हूं कि मैं भारत को फिर से महान बनाने के लिए अपने क्षमता में होगा वह करूंगा। धन्यवाद…

यदि आपको यह लेख पसंद आया है तो कमेंट बॉक्स में अपनी राय और विचार साझा कर सकते हैं। हम आपके कमेंट पढ़ना पसंद करते हैं, यह हमें ऐसे कंटेंट लाने के लिए प्रोत्साहित करता है। धन्यवाद … आपको स्वतंत्रता दिवस मुबारक हो …

About the author

Ajay Chavan

"Cut from a different cloth"
I believe words have the power to change the world. So, here I am, determined to change the world and leave my mark on it, one word at a time.
A writer, amateur poet, ardent dog lover, Sanskrit & Urdu enthusiast, and a seeker of Hiraeth.

Leave a Comment