१० पंक्तियाँ शिक्षा

होली पर १० वाक्य, पंक्तियां हिन्दी मे-10 Lines on Holi Hindi

10 15 lines on holi in hindi sentences

हम भारतीयों को उत्सव और त्यौहार बहुत पसंद हैं, हमारे यहाँ साल भर अलग-अलग त्योहार और कार्यक्रम होते रहते हैं। यह मार्च का महीना, होली का महीना, रंगों का त्योहार, सदाचार की जीत का उत्सव और बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व है। इस समय के दौरान, स्कूली बच्चों को होली के त्योहार पर ५,१० या १५ लाइन्स लिखने का होमवर्क मिलता है। वे दिवाली, दशहरा, मेरा विद्यालय, मेरी माँ, आदि जैसे विषयों पर कुछ पंक्तियों का भाषण सुनाने के लिए भी कह सकते हैं। ऐसी जानकारी इंटरनेट पर बहुतायत में उपलब्ध है, लेकिन इस लेख में, हम इसे सरल, सीधी भाषा में दे रहें है ताकि क्लास १,२,३,४,५ के स्कूली बच्चे इसे समझ सकें।

पहले खंड में, हम ५ और कुछ अतिरिक्त लाइनें दे रहे हैं, जो सरल हैं और यह एलकेजी, यूकेजी बच्चों के लिए उपयोगी हो सकती हैं। इसके बाद, हमने क्लास १,२,३,४ छात्रों के लिए हिंदी में होली पर १० लाइनें दी हैं। अगले भाग में, हम होली पर एक (१५ से २० वाक्य) लघु निबंध, भाषण दे रहे हैं, जिसका उपयोग कक्षा ५,६,७,८ के छात्र कर सकते हैं। इस खंड में दी गई जानकारी निबंध प्रारूप में है, मगर आप इसे भाषण के लिए भी यूज कर सकतें है; या होली के त्योहार पर छोटे पैराग्राफ के लिए भी इस्तेमाल कर सकतें है। उम्मीद है की यह जानकारी आपको पसंद आएं…

होली के बारे में ५ वाक्य, पंक्तियां हिंदी में

  1. मुझे रंग बहुत पसंद हैं।
  2. यही कारण है कि होली मेरा पसंदीदा त्योहार है।
  3. इसे “रंगों का त्योहार” भी कहा जाता है
  4. इस दिन लोग एक-दूसरे को रंग लगाते हैं।
  5. लेकिन हमें सावधान रहने की भी जरूरत है।
  6. हमें बुरे और रासायनिक रंगों से बचना चाहिए।
  7. मैं अपने दोस्तों, बहन और माता-पिता के साथ होली खेलता हूं।
  8. सभी को होली बहुत पसंद है।

10 Lines On Holi in Hindi for class 1,2,3 Students

  1. होली रंगों का त्योहार है।
  2. यह पूरे भारत में मनाया जाता है|
  3. होली २-दिवसीय महोत्सव है|
  4. पहले दिन की रात हम होलिका दहन करते हैं।
  5. होली के पहले दिन को छोटी होली कहा जाता है।
  6. दूसरे दिन, लोग रंगीन पाउडर “गुलाल” और पानी के साथ होली खेलते हैं।
  7. होली के दूसरे दिन को रंगवाली होली, ढूलेटी, धुलांडी, फगवा या रंगपंचमी कहते हैं।
  8. होली बसंत ऋतू के आगमन के स्वागत के लिए भी मनाते है|
  9. होली बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है|
  10. इस दिन, भगवान विष्णु ने अपने महान साधक प्रल्हाद को अपनी फूफा होलिका से बचाया था ।
  11. यही कारण है कि लोग छोटी होली पर होलिका दहन करतें है।

15 to 20 Lines Short Essay on Holi for Class 4,5,6 Students

होली एक भारतीय त्यौहार है जो पूरे भारत में बड़ी ऊर्जा और उत्साह के साथ मनाया जाता है। इसे “रंगों का उत्सव” कहा जाता है| होली, बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतिक है| यह सर्दियों के अंत और वसंत ऋतु का आगमन के सन्मान में भी मनाई जाती है| वसंत ऋतू फूलों और पौंधोंको को अलग अलग रंगों से खिलाता है इसलिए होली को रंगों के साथ मनाया जाता है।

होलीका दहन की गाथा का मूल भारतीय पौराणिक कथाओं में है| राजा हिरण्यकश्यपु के पुत्र प्रल्हाद भगवान विष्णु के महान भक्त थे। हिरण्यकश्यपु ने अपनी बेटे को मारने के लिए अपनी बहन होलिका को बुलाया| उसके पास एक जादू का वस्त्र था, जिसमें पहनने वालेको आग में जलने से बचाने की शक्ति थी। होलिका ने प्रल्हाद को आग में मारने की कोशिश की, उम्मीद करते हुए कि वह जादुई शक्ति से बच जायेगी। लेकिन उल्टा हुआ प्रल्हाद अग्नि से बाहर निकल गए और होलिका आग में जल गयी। कहानी का नैतिक मूल हे की कोई भी उस व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुंचा सकता है जिसने परमेश्वर को अपना उद्धारकर्ता माना है ।

होली एक २ दिवसीय त्योहार है, पहली दिन की रात में, हम होलिका दहन करतें है। अगला दिन रंगवली, ढूलेटी या रंग पंचमी कहलाता हैं उस दिन हम रंगों के साथ खेलते हैं। होली उत्सव अब भारतीय सीमाओं को पार कर रहा है| पश्चिम में, बहुत से लोग होली का खेल आयोजित करते हैं, बहुत सारे लोग साथ आते हैं और रंगों के त्योहार का आनंद उठाते हैं। लेकिन वे इसे एक पार्टी या शो के रूप में मनाते हैं| यह खेल होली उत्सव के वास्तविक महत्व को महसूस किए बिना एक इवेंट मात्रा की तरह मनाया जाता है, यह गलत बात है।

सूचना: अगर आपको यह १० लाइन्स पसंद आती है तो कमेंट बॉक्स में आप बता सकतें है की आप होली कैसे मानते है|

About the author

Ajay Chavan

"Cut from a different cloth"
I believe words have the power to change the world. So, here I am, determined to change the world and leave my mark on it, one word at a time.
A writer, amateur poet, ardent dog lover, Sanskrit & Urdu enthusiast, and a seeker of Hiraeth.

Leave a Comment