१० पंक्तियाँ शिक्षा

क्रिसमस पर १० वाक्य हिन्दी मे-10 Lines on Christmas in Hindi

christmas par 10 15 panktiya vakya hindi me

क्रिसमस रोशनी, उपहार, कुकीज़ और सबसे ज्यादा जीसस का त्योहार है। यह एक ईसाई त्योहार है, लेकिन अब यह एक वैश्विक त्योहार बन गया है, जो विश्वासों, धर्मों और सीमाओं के सभी बाधाओं को पार करता है। क्रिसमस हर साल २५ दिसंबर को आता है, इसे Xmas, Noël, Nativity भी कहा जाता है।

क्रिसमस जल्द ही आने वाला है और हर साल की तरह एक होमवर्क विषय जो स्कूली बच्चों को मिलता है वह है क्रिसमस त्योहार के बारे में ५,१० लाइन्स लिखना। इंटरनेट पर बहुत सारे एक्समस निबंध, भाषण उपलब्ध हैं, पर यहां हम आपको आसान अंग्रेजी में सरल १०+ लाइनें दे रहे हैं जिन्हें समझना आसान है। अनुभाग १ में क्रिसमस पर ५ पंक्तियाँ दी है जो LKG, UKG क्लास के बच्चों के लिए अच्छी हैं। आगे दिया हुआ दूसरा खंड कक्षा १,२,३ के स्कूली छात्रों के लिए उपयुक्त है। आखरी सेक्शन क्रिसमस पर हमने १५ से २० लाइन्स का एक शॉर्ट एस्से दिया है, यह क्लास ५,६,७,८ के लिए उपयुक्त हो सकता है| इस जानकारी का उपयोग आप भाषण या पैराग्राफ लिखने के लिए भी कर सकतें है|

क्रिसमस के बारे में ५ वाक्य, पंक्तियां हिंदी में- 5 Lines on Christmas

  1. क्रिसमस यीशु मसीह का जन्मदिन है।
  2. ईसाई मानते हैं कि वे ईश्वर के पुत्र है।
  3. इस दिन घर को क्रिसमस ट्री, सितारे और रोशनी से सजाते हैं।
  4. दोस्त और रिश्तेदारोंको घर बुलाते है|
  5. मेरा दोस्त जोसफ मुझे क्रिसमस के लिए हर साल अपने घर आमंत्रित करता है।
  6. आंटी जेनी मुझे चॉकलेट केक और कैंडी देती हैं।
  7. मुझे क्रिसमस बहुत अच्छा लगता है|

10 Lines On Christmas in Hindi for class 1,2,3 Students

  1. क्रिसमस के दिन, हम यीशु मसीह के जन्मदिन का जश्न मनाते हैं |
  2. हर साल २५ दिसंबर को क्रिसमस आता है |
  3. क्रिसमस के लिए हम अपना घर और क्रिसमस ट्री सजाते है|
  4. हम कुकीज़ बनाते हैं और दोस्तों को दावत पर आमंत्रित करते हैं।
  5. मैं अपने सभी दोस्तों क्रिसमस की शुभकामनाएं देता/देती हूँ और शाम में हम यीशु से प्रार्थना करते हैं।
  6. क्रिसमस के दिन छुट्टी होती है, मेरा परिवार एक साथ समय बिताता है|
  7. मैं अपने भाई को हमारे घर को सजाने में मदद करता/करती हूं|
  8. मैं, मेरा भाई/बहन और मेरे दोस्त मिलकर क्रिसमस के गाने गाते हैं।
  9. मुझे क्रिसमस बहोत अच्छा लगता है, इस दिन सब लोग बहोत खुश रहते हैं|
  10. मुझे सैंटा क्लॉज से गिफ्ट और कैंडीज मिलती हैं| मुझे लगता है कि मेरा पापा सैंटा क्लॉज है|

15 to 20 Lines Short Essay on Christmas for Class 4,5,6 Students

मुझे क्रिसमस की छुट्टियां बहुत पसंद हैं, हम हर साल २५ दिसंबर को क्रिसमस मनाते हैं। यीशु मसीह इस दिन पैदा हुए थे| मैं और मेरा परिवार हमारे घर को रोशनी और मोमबत्तियों के साथ सजाते हैं। मेरे पिताजी ने एक बड़ा क्रिसमस का पेड़ खरीदा, हमने उसे रोशनीसे सजाया। मेरी मां हमारे लिए कुकीज़ बनाती है और मैं अपने दोस्तों को दावत के लिए आमंत्रित करता हूं। मुझे सांता ने बार्बी डॉल / टॉय कार दी, मुझे लगता है की मेरे पापा ही सांता क्लॉज है | सांता लाल पोशाक पहनता है और उसकी सफेद दाढ़ी होती है| वो मुझे बहुत प्यारा लगता है क्योंकि हमें तोहफे देता है । मैंने अपने सभी दोस्तों को कैंडीज़ दीं। शाम में हम सब ने यीशु से प्रार्थना की और सबको मेरी क्रिसमस की शुभकामनाएं दी|

क्रिसमस ट्री को रोशनी और दीयों से सजाया जाता है। मूल रूप से, लोग क्रिसमस ट्री के लिए सदाबहार शंकुधारी वृक्ष शाखाओं का उपयोग करते थे। लेकिन अब कृत्रिम, प्लास्टिक क्रिसमस के पेड़ का उपयोग आम होता जा रहा है । एक बड़े तारे को पेड़ के ऊपर रखा जाता है, इसे “एंजल स्टार” भी कहा जाता है। बच्चों को क्रिसमस ट्री को सितारों, विभिन्न रंगों के गहनों और रोशनी से सजाने का आनंद मिलता है। क्रिसमस की परंपरा उत्तरी यूरोप में उत्पन्न हुई है और ईसाई धर्म से संबंधित है। अब, यह त्यौहार विश्व की सीमाओं को पार कर गया है। सभी धर्मों और देशों के लोग क्रिसमस किसीने किसी रूप में मनाते हैं|

क्रिसमस में सांता क्लॉस हमें गिफ्ट लाता है| वास्तव में सांता क्लॉस दूसरा कोई नहीं हमे अंकल सीज़र ही होतें है| उनके पास सांता क्लॉस का लाल ड्रेस, टोपी, बैग और एक लम्बी सफ़ेद दाढ़ी भी है| वे चुपके से “हो हो हो” बुलाते खिड़की से आते है और सब बच्चोंको उपहार देतें है| फिर थोड़ी देर में अच्छे गाने चलते है, बड़े लोग नृत्य करतें है| बादमे खाना पीना होता है, गपशप होतीं है और सब लोग बहुत खुश होतें है|

इस श्रेणी में अन्य विषय : दिवाली, गर्मियों की छुट्टी, मेरे प्रिय शिक्षक

About the author

Ajay Chavan

"Cut from a different cloth"
I believe words have the power to change the world. So, here I am, determined to change the world and leave my mark on it, one word at a time.
A writer, amateur poet, ardent dog lover, Sanskrit & Urdu enthusiast, and a seeker of Hiraeth.

Leave a Comment